Gandhi. From Faisal Devji’s excellent book- The Impossible Indian.

मुझे पता नहीं था के झूठन का दूसरा खंड भी है। पहले खंड ने दिल निचोड़ दिया था। रुलाया, सोने नहीं दिया। अगर आप सच में जानना चाहते हैं के जाति शोषण का क्या मतलब होता है और दिल में हिम्मत रखते हैं अपनी और इस समाज, इस देश की असलियत जानने की, तो झूठन ज़रूर पढ़ें।

Dushyant's choices:

Mastodon

The social network of the future: No ads, no corporate surveillance, ethical design, and decentralization! Own your data with Mastodon!